प्रेग्नेंसी होते ही ना करे इन चीजों का सेवन, पेट में मर सकता है बच्चा

प्रेग्नेंसी में 9 महीने का सफर बहुत ही नाज़ुक होता है इन दिनों ना करे कोई गलती लेने के देने पर सकते है. गर्भावस्था के दौरान पहली तिमाही तक गर्भपात का खतरा ज्यादा रहता है ऐसे में महिलाओ को कुछ चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए, इससे बच्चा पेट में ही मर सकता है.

एलोवेरा जूस

स्किन और बालो के जहां एलोवेरा का जूस काफी फायदेमंद होता है और एलोवेरा का जूस पीने से काफी बीमारियों से बचा जा सकता है, लेकिन एलोवेरा का जूस प्रेग्नेंसी महिलाओ के लिए जहर बन सकता है. एलोवेरा का जूस पीने के बाद पेल्विक हिस्से में ब्लीडिंग हो सकती है.

कच्चे अंडे

गर्भवती महिलाओ के शुरुआती महीनो में अंडा या अंडे से बनी किसी भी चीजों का सेवन उनको नुकसान दे सकता है इससे उनको फूड पाईजनिंग हो सकती है. अधपका अंडा खाने से आपको बचना चाहिए।

पपीता

गर्भवती महिलाओ के गर्भपात होने के कारण में पपीता का नाम सबसे ऊपर आता है, अधपका और हरा पपीता एंजाइम्स से भरपूर होता है जिससे गर्भाशय में संकुचन पैदा होता है इससे गर्भपात हो सकता है.

अधपकी या शेलफिश मछली

गर्भवती महिलाओ को भूल से भी अधपकी या शेलफिश का सेवन नहीं करना चाहिए, इस मछली को खाने से कई प्रकार के वायरस या बैक्टीरियल संक्रमण हो सकते है. जिससे बच्चे हो काफी नुकसान हो सकता है और उसे गंभीर न्यूरोलॉजिकल बीमारी हो सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *